ACT POSITIVE NOW

Archives for August, 2016

You are here: » »

व्यर्थ के विचारों से खुद को मुक्त करने के लिए माफ़ करें और भूल जाएँ :

व्यर्थ के विचारों से खुद को मुक्त करने के लिए माफ़ करें और भूल जाएँ :- अक्सर हम अपने गुजरे दिनों की दुखमयी कहानियों को याद करते रहते हैं और फिर उनका बयान करते रहते हैं जो हमारी अशांति का एक प्रमुख कारण है। उदाहरण के लिए हम अक्सर...

मुक्ति के उपाय :

मुक्ति के उपाय :- यदि हम मुक्ति चाहते हैं तो हमें अपने मन से विषयों अर्थात् उपभोग की इच्छाओं को विष समझ कर त्याग देना चाहिए।उत्तम गुणों जैसे क्षमा ,सरलता ,दया ,संतोष और सत्य का जीवन में संचार करना चाहिए।ये सब गुण अमृत के समान हैं। हमारा शरीर पंचतत्वों...

वास्तविक बने रहें और जो आपके साथ रहने में खुश हैं ,उन्हें प्यार करें :

वास्तविक बने रहें और जो आपके साथ रहने में खुश हैं ,उन्हें प्यार करें :- हर सुबह शीशे के आगे खड़े हो जाएँ और अपने आप को एक बड़ी मुस्कान दें।साथ ही साथ अपने आप से ये वादा करें कि आज आप एक अच्छा दिन गुजारेंगे और खुश रहेंगे,चाहे...

विचारणीय :४

विचारणीय :४ अपने स्वयं के मष्तिष्क में अपने खुद के लिए एक घर बनाएँ।इसे सजाने के लिए जिस की आपको जरूरत है ,वो आप पायेंगे –स्मृतियाँ ,मित्र ,जिन पर आप भरोसा कर सकते हैं ,सीखने का प्यार में  ….यह आपके साथ जाएगा जहाँ भी आप यात्रा करेंगे। –टेड विलियमस...

वक्त कि मांग है कि मानवता का पुनर्जीवन हो :

वक्त कि मांग है कि मानवता का पुनर्जीवन हो :- ये बड़ा ही सोचने का विषय है कि हमारी मानवता कि अवधारणा को क्या हुआ है ? क्या हम दिन-प्रतिदिन ज्यादा अमानवीय बन रहे हैं ?यदि ऐसा नहीं है तो क्यूँ कुछ व्यक्ति इस हद तक नीचा गिर जाते...

ख़ुशी भरा जीवन जीने के लिए :

ख़ुशी भरा जीवन जीने के लिए :- अपने स्वयं के साथ रहें ,अपना समस्त असंतोष और गुस्सा पीछे छोड़ें , खुद की उपलब्धियों के साथ संतुष्ट रहें और अपने जुनून का पीछा करें- अपने स्वयं के साथ रहें : एक जरूरी बात जो हमें अपने प्रारम्भिक जीवन में समझ...

विचारणीय:३

विचारणीय:३ बस वही करो ,जो किया जाना चाहिए।जरूरी नहीं है ये ख़ुशी हो ,लेकिन ये महानता है। –जॉर्ज बर्नार्ड शॉ अर्थात् कभी भी इसलिए की ऐसा करना हमें ख़ुशी देगा कोई ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिसे करना आवश्यक न हो।बल्कि ऐसा काम करो जो जरूरी हो ,चाहे इसको...

स्वयं की खोज के अपने रास्ते पर ,प्रश्न जो आपको पूछने की जरूरत है:

स्वयं की खोज के अपने रास्ते पर ,प्रश्न जो आपको पूछने की जरूरत है:- नेताओं को आत्म जागरूकता की जरूरत है।नेतृत्व की विफलता का एक प्रमुख कारण आत्म जागरूकता की कमी है।इस ज्ञान को स्वीकार कर लिया गया है।इस विषय पर हजारों पुस्तकें,कार्यशालाएँ ,आश्रयस्थल और हस्तक्षेप  हैं जो बड़ी...

मनुष्य का जीवन किस प्रकार का होना चाहिए :

मनुष्य का जीवन किस प्रकार का होना चाहिए :- मनुष्य को कभी भी किसी की हिंसा नहीं करनी चाहिए।अर्थात् किसी को तन अथवा मन से कोई कष्ट नहीं पहुँचाना चाहिए।उसे  मन ,वचन और कर्म से किसी भी प्राणी के प्रति वैर की भावना नहीं रखनी चाहिए।कभी भी साम,दाम दंड...

जीवन केवल हमारे द्वारा ही सर्वोत्कृष्ट रचना बन सकता है :

जीवन केवल हमारे द्वारा  ही सर्वोत्कृष्ट रचना बन सकता  है :- जीवन जीना और उसे सुधारना सबसे बड़ा चमत्कार है : चमत्कार बनाये नहीं जाते ,वो होते हैं।किसी को भी एक एकल घटना की आवश्यकता नहीं होती जिसे चमत्कार कहा जा सके क्योंकि हमारी पूरी जिन्दगी ही एक चमत्कार...